लॉग इन

Login Form










  • शैक्षिक उन्नयन

    कठिन विषय जैसे विज्ञान, गणित, एकाउन्ट, अंग्रेजी के प्रतिदिन दो वादनों के अध्यापन की व्यवस्था








  • श्रेष्ठ अनुशासन

    अध्ययन, खेलकूद, सामूहिक कार्यक्रम, सांस्कृतिक कार्यक्रमों में प्रतिभाग कराते हुए अनुशासित रहने का प्रयास करना।








  • राष्ट्रीयता का विकास

    छात्रों में देश प्रेम व समाज सेवा का भाव जगाने के लिये विद्यालय में रा0 से0 यो0 (N.S.S.) प्रारम्भ किया।

प्रस्तावना

हिमालय के प्रवेश द्वार पर स्थित रूद्रपुर नगर, देश में ही नहीं वरन् आज विश्व के परिदृश्य पर छा चुका है। विश्व के परिदृश्य पर औद्योगिक नगरी के रूप में उभरता यह नगर आज आकर्षण का केन्द्र बन गया है। इस परिप्रेक्ष्य में यहां के शिक्षाविदों, शिक्षण संस्थानों और समाज सेवियों की जिम्मेदारी और भी बढ़ गयी है। भविष्य की चुनौतियों का सामना करते हुए तथा भविष्य के बदले हुए स्वरूप के अनुसार भावी पीढ़ी को शिक्षित करना एक चुनौती है।

इसी चुनौती को एक मिशन के रूप में स्वीकार कर आज जनता इंटर कॉलेज इस क्षेत्र की भावी पीढ़ी को शिक्षित करने मे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

Janta Inter College
विद्यालय का इतिहास

शिक्षा प्रसार व लोक हितकारी समिति द्वारा 3 अगस्त 1955 को जूनियर हाईस्कूल के रूप में मात्र 28 छात्रों से इस विद्यालय की शुरुआत हुए की गई। स्थापना के समय न तो अपनी भूमि थी, न ही संशाधन, परंतु लक्ष्य के प्रति उदात्त भावना थी। प्रारंभ में वर्षों तक भी भूमि भवन आदि उपलब्ध न होने के कारण को 5 - 6 वर्ष तक जूनियर हाई स्कूल की स्थाई मान्यता तक प्राप्त ना हो सकी।

Achievement

एक ओर प्रारम्भ के 10 वर्षों (1955-1965) में विद्यालय जूनियर हाई स्कूल स्तर की अस्थाई मान्यता या बिना मान्यता के संचालित रहा।

मात्र 28 छात्रों के प्रारंभ हुए बीज के रूप मे इस विद्यालय ने आज एक वृक्ष रूप धारण कर लिया है आज इसमे लगभग 1700 छात्र अध्ययनरत हैं।

नगर ही नही संपूर्ण जनपद / मण्डल / प्रदेश मे प्रतिष्‍ठा प्राप्‍त यह विद्यालय जहाँ एक ओर इण्टर स्तर तक शिक्षा प्रदान करता है वहीं दूसरी ओर अपने विभिन्न आयामों के माध्यम से छात्रों की प्रतिभाओं को यथा कंप्यूटर, संगीत, भाषण, संचालन, गायन-वादन, खेल-कूद आदि मे प्रवीणता लाने का भरसक प्रयत्न करता है।

janta inter college
अभिकल्पित और विकसित iTech++